Mobile ka avishkar kisne kiya था और कब किया था इसकी पूरी इतिहास हिंदी में 

Mobile ka avishkar kisne kiya था और कब किया था इसकी पूरी इतिहास हिंदी में 

Mobile ka avishkar kisne kiya था और कब किया था इसकी पूरी इतिहास हिंदी में 

स्वागत है आप सभी को हमारे और एक शानदार ब्लॉग पोस्ट में आज हम बात करने वाले है  Mobile phone क्या है ? इसे हिंदी में क्या कहते है mobile ka avishkar kisne kiya था और इसके revolutin कैसे हुआ इनसब के बारेमें आज हम बात करने वाले है ।

आज के टेक्नोलॉजी के दुनिये में हर किसीके पास आपको एक एक मोबाइल फ़ोन देखने केलिए मिलता है चाहे आप बच्चो की बात करो या बूढ़े की बात करो ।

आज के समय में हम हर कोई मोबाइल फ़ोन का इस्तमाल करता है, एक रिपोर्ट से पता चला है की हमारे देश में हरहरी 4.3 घंटे लोग अपने मोबाइल के साथ बिताते है ।

😎 और इसके हिसाब से देखा जाये तो हम कहीं ना कहीं हमारा पुरे जिंदगी का 7 साल के आस पास हमारे पुरे जिंदगी का सिर्फ मोबाइल चलाते हुए  बिताते है ।

😎 और के फैक्ट आप लोगों को बताना चाहता हु की आज के समय में पुरे दुनिये में लोगों के पर्सनल कंप्यूटर से 5 गुना ज्यादा मोबाइल फ़ोन इस्तमाल करते है लोग ।

आपको सायद मोबाइल मोबाइल फ़ोन के बारेमें बोहोत कुछ पता होगा पर आपको सायद इतिहास नहीं पता होगा, मोबाइल फ़ोन कैसे बना है, मोबाइल फ़ोन का अविष्कार किसने किया था ये सब ।

चलिए तो बिना समय गाये जानते है मोबाइल फ़ोन के बारेमें

मोबाइल फ़ोन क्या है ?

Mobile ka avishkar kisne kiya

ये एक तरह का इलेट्रॉनिक यन्त्र है जिसके माध्यम से हम दूर में रह कर बी एक दूसरे के साथ आपस में बात कर सकते है । मोबाइल फ़ोन के जरिये आप दुनिया के किसीबी कोने से दूसरे कॉस्बी कोने में रहने वाले लोग के साथ बात कर सकते है ।

वैसे तो मोबाइल फ़ोन जो हम लोग इस्तमाल करते है वो फ़ोन का बिकसित रूप है । पहले के ज़माने में ऐसे कोई बी फ़ोन नहीं हुआ करता था ।

समय के हिसाब से इसको develop करके लोगों के बायबर के लायक और लेने आने की सुबिधा को देखते हुए मोबाइल फ़ोन को बनाया गया है ।

सबसे पहले दुनिया में टेलीफोन आया था फिर उसे ज्यादा फीचर डालके उसे लेने जाने की सुबिधा को देखते हुए उसे छोटा करके उसे मोबाइल फ़ोन आकार दिया गया है ।

मोबाइल का अविष्कार किसने किया था ?

सबसे पहले मोबाइल फ़ोन का अविष्कार मार्टिन कूपर ने किया था सं 1972-73 के समय में, और आज उन्ही के वजह से हम हमारे हाथ मै मोबाइल फ़ोन देख पा रहे है ।

martin-cooper-cell-phone

अगर हम बात करे इसे बनाने की और बिकसित करने की तो बोहोत सारे बैज्ञानिकों का हात है इसमें पर सबसे पहले आता है नाम ग्रैहम बेल की जिन्होंने इसी टेक्नोलॉजी का ईजाद किये थे । अगर वो नहीं होते तो सायद हम कभी बी मोबाइल फ़ोन को देख नहीं पा रहे होंगे ।

मार्टिन कूपर एक अमेरिकी बैज्ञानिक थे जिनको सुरुवात से ही मोबाइल फ़ोन के इंडस्ट्री में बोहोत रुच था, जिसके वजह से वो कुछ मोबाइल कंपनी के जुड़ गए थे ।

वो कोसिस करते थे की वो ऐसा मोबाइल फ़ोन बनाये जिसमे की वो कोई तार का इस्तमाल ना करे, और वो कोसिस करते करते वो आखिर में कामियाब हुए और वो पहले एडमिन बन गया थे जिन्होंने मोबाइल फ़ोन का ईजाद किये वो बी बिना कोई तार वाले ।

उसी समय उसी मोबाइल की फ़ोन की बजन 2 किलो आस पास था और उसे एक बार चार्ज करने में करीबन आधा घंटा तक बात कर सकते थे और उसी मोबाइल फ़ोन को चार्ज करने केलिए करीबन 10 घंटे लगते थे,आप इसे अंदाज लगा सकते थे तबके समय में कैसे मोबाइल फ़ोन हुआ करता था ।

मोबाइल फ़ोन के प्रकार

जैसे जैसे समय बिता गया मोबाइल फ़ोन को बिकसित किया गया और उसे लोगों के इस्तमाल करने में और आसान किया गया, मोबाइल फ़ोन की फीचर को देखते हुए मोबाइल फ़ोन की 3 तरीके बता गया है आप निचे इसके प्रकार के बारेमें देख सकते है

1. सेल फ़ोन ( Cell Phone )

nokia 1100 model

सबसे पहले मोबाइल फ़ोन को बिकसित करके सेल फ़ोन बनाया गया था । सायद आप में से बोहोत से लोग होंगे जो देखे होंगे 80s और 90s के समय में इसी तरह के फ़ोन चलते थे ।

इसमें आपको ज्यादा कुछ फीचर नहीं मिलता था इसमें बस आप कॉल कर सकते हो और calculator और calendar यही देख सकते थे आप ।

आपने देख होगा Nokia 1100 मॉडल से कुछ फ़ोन एते थे तबके समय में । सिर्फ नोकिआ नहीं दूसरे कंपनी के बी फ़ोन आते थे तबके समय में

इसी फ़ोन के टाइम में थोड़ा महंगा आता था फ़ोन तब सबके पार मोबाइल फ़ोन हुआ नहीं करता था ।

2. फीचर फ़ोन ( Feature Phone )

फिर आता है फीचर फ़ोन जो की आपने जरूर देखे होंगे इसी तरह के फ़ोन आपको थोड़े से बिकसित देखने मिलते थे, इसमें आपको कॉल करना, मैसेज करना, गाना सुनना और फोटो खींचना आदि काम कर सकते हो ।

feature phone

इसमें आपको बोहोत से चीज बोहोत ही बिकसित देखने केलिए मिलते है इसमें आपको ब्लूटूथ बी देखने केलिए मिल जाता है साथ ही साथ इसमें आपको इंफ्रारेड बी देखने केलिए मिलता है ।

फीचर फ़ोन एते एते लोगों को फ़ोन के बारेमें बोहोत कुछ पता चल गया था और लोग फ़ोन इस्तमाल करना सुरु कर दिए थे । जब पहली बार फीचर फ़ोन आया था बोहोत से लोग फोपने ख़रीदे थे और आप कह सकते हो तबसे मोबाइल फ़ोन के इंडस्ट्री में परिबर्तन आना सुरु हुआ था ।

अगर बात करू फीचर फ़ोन के समय में बोहोत से कंपनी मोबाइल फ़ोन बनाना सुरु कर दिया था ।

3. स्मार्ट फ़ोन (Smart Phone)

फिर आता है स्मार्टफोन जो की आज कल हम लोग इस्तमाल कर रहे है । और आपको में बतादूँ आज के समय में सबसे बेहतरीन और बिकसित फ़ोन हम लोग इस्तमाल कर रहे है ।

smartphone image

पहले के ज़माने से फ़ोन के मुकाबले आज के समय के फ़ोन में आपको बोहोत फर्क देखने केलिए मिलगे । आज के समय के स्मार्टफोन में AI का इस्तमाल किया जा रहा है और बोहोत सारे बिकसित technology जैसे की GPS , Wi-Fi , hotspot , Sensor , high quality camera इत्यादि आपको देखने केलिए मिलते है ।

अभी के समय में करीबन हर किसीके हाथ में आपको smartphone देखने केलिए मिलते है ।

India में मोबाइल फ़ोन

हमारे देश में सबसे पहले 1995 , जुलाई 31 को हमारे देश की राज्य पश्चिम बंगाल की मुख्या मंत्री ज्योति बासु जी ने पहली बार फ़ोन कॉल किये थे हमारे देश की यूनियन टेलीकॉम मिनिस्टर सुखराम जी को और फिर उसे 16 साल बाद हमारे देश में 4g आया था यानि 2012 को ।

चलिए जानते है ऐसे ही कुछ जानकारिया मोबाइल फ़ोन के बारेमें

India की पहली मोबाइल फ़ोन

हमारे देश की जो सबसे पहेली मोबाइल फ़ोन आईथी जिसको लोगों ने इस्तमाल किया था उस मोबाइल का नाम है Nokia Ringo और ये आया था 1995 को ।

आपको इसके नाम से ही पता चल रहा होगा ये Nokia कंपनी का फ़ोन था और इसमें आपको 900 MAH की battery देकने केलिए मिलता था ।

और आपको बतादूँ की तबके समय में मोबाइल फ़ोन में बात करना आसान नहीं था इसके लिए आपको बोहोत पैसा देना पड़ता था उसी वक्त में जब पहली बात मोबाइल फ़ोन आया था तब आपको 16 रुपया प्रति मिनट देना पड़ता था बात करने केलिए ।

🔸 चोरी हुआ mobile कैसे खोजे ?

🔸 दुनिये के सबसे महंगा फ़ोन के बारेमें जानिए ?

🔸 Radio का अविष्कार किसने किया था ?

कुछ रोचक तथ्य मोबाइल फ़ोन के बारेमें (India)

  • 1995 में हमारे देश में पहली बार call किया गया थे के जगह से दूसरे जगह को
  • हमारे देश का सबसे पहला मोबाइल है Nokia Ringo
  • 1995 में फ़ोन पे बात करने केलिए आपको 16 रूपया पैर मिनट देना पड़ता था
  • हमारे देश में पहली बात पश्चिम बंगाल के मुख्य मंत्री ज्योति बासु जी ने बात की थी
  • 11 December 2008 को हमारे देश में 3g lunch हुआ था
  • हमारे देश में 10 April 2012 को 4g lunch हुआ था
  • हमारे देश में September 23, 2008 को Android आया है
  • हमारे देश में आज के समय में 450 मिलियन से बी ज्यादा लोग मोबाइल फ़ोन का इस्तमाल करते है
  • दुनिये के 2nd पे आता है हमारा देश मोबाइल फ़ोन बेचने में

आज अपने क्या सीखा

आज हमने आपको बताया है की mobile ka avishkar kisne kiya है और हमारे भारत में मोबाइल फ़ोन की situation अभी कैसी है अगर आपको हमारा ये पोस्ट अच्छा लगा है तो आप अपने डॉयन के साथ जरूर share कीजिये धन्यबाद ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *