(10+ Tips) Meditation Kaise Kare हिंदी गाइड

आज हम बात करने जा रहे है meditation kaise Kare इसके बारेमें । अगर आप चाहते है अपने जीबन में कुछ परिबर्तन लाने केलिए meditation करना और आप नये है और आपको ज्यादा पता नहीं है कैसे सही से meditation किया जाता है तो आज आपको इसके बारेमें पूरी जानकारी मिलने वाला है ।

मेडिएशन कैसे करे इसका बारेमें बताने से पहले आपको थोड़ा सा इसके बारेमें जानकारी देना चाहुगा की आपको इसको पूरा जानने और पढ़ने केलिए मजा अये । बोहोत से लोगों का मन्ना है की meditation से लोग अपने आप को सांत रख सकते है और अपने काम करने की क्ष्य्मता को बढ़ा सकते है और focus को बढ़ा सकते है ।

आज के समय में सबसे बड़ा रोग है खुश कैसे रहे और मानसिक चिंता जिसके वजह से लोगों की उमर कम हो रही है, और इसी मैडिटेशन से बोहोत सारे लोगों के अंदर ये बदलाव देखने केलिए मिला है की वो मानसिक चिंता से मुक्ति मिल चूका है और वो खुस बी है । कहिबार ऐसे बी देखा गया है की meditation से लोगों के अंदर बदलाव आने के साथ साथ उनके शारीरिक सरीर में बी बदलाव आया है ।

Meditation जो की हमारे देश में बोहोत सालों से चलते हुए आ रहा है और लोगों का मन्ना है की इसके जरिये हम जो काम नहीं कर सकते है उसे हम meditation से आसानी से कर सकते है क्यों की इसमें focus करने की क्ष्य्मता बढ़ जाती है और काम आसान हो जाता है ।

चलिए जानते है इसी meditation के बारेमें और meditation kaise kare इसके बारेमें, हम आज जो बी आपके सामने बतायेगे वो सब practically लोगों के द्वारा किया गया है ।

Meditation Kya Hai ?

Meditation एक प्रकार का अभ्यास है जिसमे बोहोत सरे technique है जो की आपको अंदर focus करने की क्ष्य्मता को बढ़ता है और उसी एक चीज में आपको माहिर बनता है । मूल तौर पे meditation को आतंरिक बदलाव केलिए इस्तमाल किया जता है पर इसमें बोहोत सारे बहारिक बदलाव बी देखने केलिए मिलते है ।

अगर इसके इतिहास के बारेमें आपको जानकारी दू तो मैडिटेशन जिसे हिंदी में ध्यान करना कहते है ये हमारे वेद अंदर लिखा गया था कई हजारों साल पहले । आज दुनिया भर में जो बी लोग meditation कर रहे है वो सब हमारे देश से ही प्रेरित है और वो आज इसे अपने जीबन में लागु कर रहे है ।

फिर समय के हिसाब से इसी mediation Chin में गया और फिर आज के समय meditation के जनक यानि जन्म स्तन के हिसाब से India और Chin को मना जाता है । फिर आज के समय में जैसे जैसे technology आया और globalization हुआ बाकि बोहोत सरे देशों में इसके बारेमें पता चला और आज के समय हर देश में इसको माना जाता है और लागु बी किया जाता है ।

Meditation क्यों करना चाहिए ?

Meditation कोई दवाई नहीं है जो की तुरंत रहत दे सकती है पर ये एक प्रकार का दवाई की तरह काम कर सकती है अगर आप इसे रोज की जिंदगी में लागु करते है तो । अगर आप मैडिटेशन करने जा रहे है तो आपको जानना बोहोत जरुरी है की क्यों लोग mediation करते है और करने से क्या फयदा मिलता है ।

Meditation से आप एक संत जगह पे बेथ के आपको ध्यान लगाना होता है अपने ऊपर और अपने आप को अच्छे से समझना होता है । Meditation से आप अपने अंदर की कमी से लेके क्या ताकत है वो सबको जान सकते है और कोई बी काम करने केलिए जितना focus की जरुरी होता है उतना आप अच्छे से कर सकते है ।

अगर आप meditation करते है तो आपको क्या क्या मिलेगा निचे आप देख सकते है

  • खुदके अंदर की कस्ट को समझ सकते है
  • अपने अंदर की Stress को कम कर सकते है
  • लोगों के साथ अच्छे से connect कर सकते है
  • Focus करने की क्ष्य्मता बढ़ती है
  • दिमागी हालत ठीक करती है
  • मानसिक चिंता से मुक्ति मिलती है

Meditation Kaise Kare ?

Meditation Kaise Kare

मैडिटेशन एक ऐसा चीज है जो की हर कोई कर सकता है इसके किसी प्रकर की निर्धिस्ट चीज की जरुरत नहीं । ध्यान करना एक बोहोत ही आसान काम है पर कुछ लोगों केलिए ये थोड़ी सी मुश्किल हो सकती है । चलिए जानते है meditation kaise Kare इसके बारेमें, हमने निचे पॉइंट के हिसाब से बताये हुए है जिन्हे आप देख सकते है

1)सांत जगह पे जाये

अगर आप meditation करने जा रहे है तो सबसे पहले आपको एक सांत जगह पे जाना है जहाँ पे लोग नहीं होंगे और आपको कोई बहार की आवाज ज्यादा नहीं अति होगी क्यों की ध्यान करते वक्त अगर कोई इंसान आके आपको बिचलित करता है तो आपका ध्यान भांग जायेगा और आपका परिश्रम बेकार जा सकता है ।

इसके अलावा अगर आप सांत जगह पे जाके ध्यान करते है तो इसमें आपको कोई परेशां करने वाला या कोई बाहरी आवाज आपको परेशान करने वाला नहीं होता है जिसके कारन आपको मदद मिलती है और अच्छे तरीके से ध्यान केंद्रित करने में ।

हमेशा कोसिस कीजिये अपने हिसाब से सही समय चुनने का ताकि उसी समय में कोई आपको परेशान ना करे, इसके लिए आप रात को ध्यान कर सकते है या फिर आप सुभे सुभे कर सकते है तब आपको कोई परेशान करने वाला नहीं होता है और महल सांत बी रहता है । ध्यान सुरु करने से पहले आप अपने mobile phone को silent कर दीजिये ताकि बिच में से कोई चीज आपके ध्यान भांग ना कर पाए ।

2)हाथ पैर धोके ध्यान कीजिये

जब बी ध्यान करने जाये उससे पहले आप अपने हाथ मुँह कर पैर बगेरा को अच्छे पानी में धोके जाइए ताकि आपको ध्यान करते वक्त अगर आपके पैर से या कही से कोई बदबू ना आये अगर अति है तो वो आपके मन को बिचलित कर सकती है ।

3)आराम दायक जगह में बैठे

सांत जगह में आने के बाद आपको आराम दायक जगह में बैठना है जहाँ पे आपको बैठने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए और जिसमे आप ज्यादा समय केलिए बैठने में बी आपको कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए । अगर आप आराम दायक जगह पे बैठे है तो आपको आसानी होगी लम्बी समय तक बेथ पाते है जिसके वजह से आप ज्यादा समय तक ध्यान लगाके बेथ सकते है ।

हमेशा कोसिस कीजिये की जब बी ध्यान करे तो आप नीचे बैठ के करे ताकि इससे आपकी बैठने वाली अभ्यास बने जो की सरीर केलिए बोहोत फायदे मंद होता है । अगर आप नीचे नहीं बैठ सकते है तो आप chair पे बैठ के बी कर सकते है और आपका पैर जैसे मिट्टी को छू रही होगी । फिर आप जैसे मर्जी आप अपने पैर मोड़ कर बी कर सकते है बस आपको इतना ध्यान देना है की आपको बैठने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए ।

4) समय निर्धारित करे

ध्यान सुरु करने से पहले हमेशा आप समय निर्धारित करे की आपको कितना समय तक ध्यान करना है । अगर आप नये है और पहली बार सुरु कर रहे है ध्यान करना तो आप 10 मिनट समय से सुरु कीजिये और जैसे जैसे आप इसके अदि हो जायेगे फिर आप अपने हिसाब से समय को बढ़ाते चलिए ।

5) धीरे धीरे गहरी सांसे ले

फिर आप सांत जगह में बैठने के बाद अपने हिसाब से बैठने के बाद अपने आँखों को बंद करके धीरे धीरे गहरी गहरी साँसे लीजिये धीरे धीरे । पहल अंदर लीजिये धीरे धीरे करके गहरी साँसे और फिर आप धीरे धीरे बहार को छोड़िये ।

6) अपनी सांसों पर ध्यान केंद्रित कीजिये

फिर आपको जैसे जैसे अपना साँसे अंदर लेके छोड़ेगे उसी बिच में आप अपना ध्यान बाकि चीजों से हटा के अपने सांसों पर दीजिये और महसूस करना है की आपका सांस आपके नाक से लेके आपके दिल तक जा रहा है और बिच में आपको कुछ सोचना नहीं है । जैसे जैसे आप करते जायेगे और ध्यान अपने सांसों पर रखेंगे आप बहार की साडी चीजों को भूल जायेगे ।

7) अपने अंदर की चिंता को संभाले

सुरुवात करेंगे तो आपके साथ कहिबार ऐसा होगा की आप कही खो जायेगे कोई चीज को लेके कोई चिंता के ऊपर तब आपको उससे वापस आना है और आपको वही ध्यान को फिरसे आपके सांसों पर केंद्रित करना है । कहिबार आप ध्यान करते हुए सो बी सकते है, आपको फिर से जग के वापस आके आपको ध्यान अपने साँसों पे लगाना है ।

8)धीरे से आंख खोले

जब बी आपको लगे की आपका ध्यान पूरा हो गया है फिर आपके अलार्म बजा फिर आपको धीरे से आंख को खोलना है और अपने अंदर की ऊर्जा को महसूस करना है और तुरतं अपने मोबाइल फ़ोन या फिर किसीसे बात करना लगना नहीं है आपके अंदर जो सकारात्मक ऊर्जा है उसे महसूस करना है जितना देर हो सके उसको अपने अंदर बजाये रखना है ।

और इन्ही सारि 8 step में आपको पता चल गया होगा की meditation kaise Kare इसके बारेमें अभी जानते है अगर आप meditation करते है तो किनता समय उसे करना चाहिए

इसे पढ़िए ➤ Facebook Bio For Boys

इसे पढ़िए ➤ Informal Letter format in Hindi

Meditation कितना समय करे ?

बोहोत सारे लोग जानना चाहते है की mediation किनता समय करना सही रहता है इसका उत्तर में आपको कहना चाहुगा की meditation आप अपने हिसाब से जितना समय चाहे कर सकते है । Meditation को करना या ज्यादा समय तक बैठना कोई बड़ी बात नहीं उसे हर दिन करना सबसे बड़ी बात है ।

अगर आप एक दिन एक घंटा करलिए और दूसरे दिन नहीं किये तो इसका आसार उतना नहीं होगा पर अगर आप रोज करते है ध्यान 10 मिनट ही फिर बी आपके अंदर बोहोत बदलाव लता है ये ।

Meditation के फायदे ?

अगर आप meditation kaise kare जान लिए है तो ये बी जान लीजिये की mediation करने से आपको क्या फायदा मिलने वाला है ताकि आगे चलके आप इसे अरु ध्यान लगाके करे और कोई पूछे तो उसे आप बता बी सकते है क्यों करना चाइये इससे क्या फायदा मिलने वाला है

  1. सबसे पहले तो ध्यान करने से ये आपके अंदर से stress जो की सरदर्द होता है कोई बातों को लेके या भबिष्य को लेके ये सारा चीज काम हो जाता है जिससे हम ज्यादा खुस रह सकते है
  2. इंसान हमेशा कुछ ना कुछ चिंता करता ही रहता है जिसके वजह से वो खुश नहीं रह पता है पर mediation से वो इसी ना होने वाली चिंता से मुक्ति पा सकता है
  3. आपको पता होगा जैसे शारीरिक स्वास्त्य होता है ठीक होता है मानसिक स्वास्त्य और सरीर ख़राब होने से हम medicine खाके उसे ठीक कर देते है पर अगर मानसिक कोई समस्या अति है तो उसे कोई बी मेडिसिन से ठीक नहीं कर सकते है । अगर आप रोज ध्यान करेंगे तो आप आसानी से अपने मानसिक स्वास्त्य को ठीक रख सकते है
  4. बोहोत सरे लोग अपने आप को बोहो सफल बनाना चाहते है जिसके लिए वो अपना कुछ समय ध्यान में देते है ताकि वो अपने आप को और गहरी से जान सके और अपने अंदर की कमी को पूरा कर सके
  5. आपके अंदर कोई बी चीज को लेके focus को ये बढ़ता है जिससे आप उसी काम को अच्छे से कर पते है जो की एक बोहो बड़ी बात है
  6. आपको पता है की उमर होने के बाद लोग धीरे धीरे चीजों को भूलना सुरु करते है पर जो लोग रोज ध्यान करते है उनके अंदर ये बीमारी देखने केलिए नहीं मिलती है
  7. मुलतौर पे ध्यान करने से आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा भर देती है जो की आपको मदद करती है जीबन में हर चीज में सकारात्मक सोचने केलिए जो की बोहोत जरुरी है एक इंसान के अंदर होना ही चाहिए
  8. Meditation से आपके अंदर की इच्छा सकती को आप नियंत्रित कर सकते हिअ जिसके वजह से आप कोई बी काम या कोई बी चीज के और जल्दी आकर्षित नहीं होंगे जो की एक बोहोत बड़ी चीज है गलत रस्ते से जाने से बचा सकता है आपको
  9. ध्यान करने वालों लोगों को रात को नींद बोहोत अच्छी अति है इसीलिए बोहोत सारे डॉक्टर बी ध्यान करने कलिये अपने मरीज को कहते है । अगर आप बी करते है तो आपके बी अच्छी नींद आएगी ।
  10. कहिबार हमारे साथ ऐसा चीजें हमारे अंदर यंत्रणा देते है और अंसारी चीजों को सोचके वो सब और बी बढ़ जाता है इसी क्षेत्र में आप ध्यान करके उसे कम कर सकते है ।

Meditation क्या है ?

Meditation एक अभ्यास है जिसके अंदर बोहोत सरे तकनीक को अपनाके अपने अंदर की कमियों को पूरा किया जाता है जैसे की मन को सांत करना और focus को बढ़ाना

मैडिटेशन करने का सही समय क्या है ?

मैडिटेशन करने का कोई सही समय नहीं है जब बी आपको मौका मिले और आप करने केलिए तैयार हो आप कर सकते है बसर्ते आपको एक संत जगह की जरुरत होती है

मैडिटेशन कितना समय करना चाहिए ?

मैडिटेशन को करने का कोई समय सिमा नहीं है आप अपने हिसाब से समय को चुन के कर सकते है बस आपको ध्यान देना है की इसे रोज करना है ना की हफ्ते में एक बार

मैडिटेशन क्यों करे ?

मैडिटेशन करने से आप अपने आपको अच्छे से जान पाएंगे और ये अपने मानसिक बीमारी को ठीक करता है और आपको अपने काम में focus करने की क्ष्य्मता को बढ़ता है ।

मैडिटेशन से क्या हम खुस रह सकते है ?

मैडिटेशन एक जरिये है जो की आपके मन को शांत करता है और आपके अंदर की खुसी को पहचानने में मदद करता है पर खुश रहना या ना रहना ये आपके ऊपर निर्भर करता है

Conclusion

आज हमने आपको बताया है की meditation kaise kare इसके बारेमें और आपको बताया है की इसको सही तरीके से कैसे करना है और इसको करने से आपको क्या क्या फायदा मिलने वाला है । अगर आप meditation को करना चाहते है तो तुरंत कीजिये बिना कोई ज्यादा सोचते हुए इसके बारेमें क्यों की इसको करने के बाद ही आपको इसका असर पता चलेगा ।

आखिर में आपको कहना चाहुगा की एक दिन करके आपको इसका असर पता नहीं चलेगा अगर आप इसे आगे रोज करते हो तो इसका असर आप अपने अंदर देख सकते है । असर करते है आज हम आपको जानकारी दे पाए है और अगर आपको हमारा ये जानकारी अच्छा लगा है तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिये और comment में अपना राय जरूर दीजिये कैसा लगा हमारा ये जानकारी ।

Similar Posts

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *