police mobile kaise track karti hai

police mobile kaise track karti hai

police mobile kaise track karti hai

आपने कभी ना कभी ये सोचे होंगे की police mobile kaise track karti hai  कही न कही हर किसीके दिमाग में ये सवाल एक बार जरूर आया होगा ।

अपने बोहोत सारे movie बगेरा में देखा होगा पोलिस कैसे कोई चोर को पकड़ती है उसके मोबाइल को ट्रैक करके । movie में तो बोहोत से तरीके दिखती है जहाँ Monitor पे पूरा दिखती है मैप में चोर का लोकेशन ।

police mobile kaise track karti hai जानिए हिंदी में कैसे पूरी जानकारी

स्वागत यही आप सभी को हमारे और एक नए पोस्ट में आज हम बात करेंगे आखिर police mobile kaise track karti hai .

police mobile kaise track karti hai

सबसे पहले police हो या कोई बी अगर  कोई बी mobile फ़ोन को kaise track या trace करने की सोचता है तो कहीं न कही उनको ऐसे कुछ चुनिंदे तरीके है जिसको वो अपना के कोई बी Mobile को track या trace कर सकते है ।

ज्यादातर क्षेत्र में 3 मुख्या तरीके है जिसमे Police mobile kiase track karti hai

1.IMEI Tracking

आपने सुने होंगे की कही न कहीं चोर को उसके मोबाइल नंबर को ट्रैक करके पुलिस उसके तक पहंच जाती है । तो में आपको बता दू की ये मूवी में जितना आसानी से चोर के दरवाजे तक पुलिस जेक पहंच जाती है हकीकत में ऐसा नहीं होता है ।

IMEI tracking ज्यादातर हर किसी मोबाइल को ढूंढे में किया जाता है । इसमें उस चोर या जसिका ट्रैक करना चाहते है उसका मोबाइल नेटवर्क से कनेक्ट रहना चाहिए तभी जाके उसे ट्रैक किया जा सकता है । अगर मोबाइल बंद हुआ है तो उसे ट्रैक नहीं किया जा सकता है ।

IMEI Tracking kya hai

IMEI ट्रैक करना आसान नहीं होता है , इसमें कभी बी सठिक लौटीओं नहीं मिलता है , इसमें बस अंदाजा लगा जा सकता है की कहाँ मोनीले है ।

जानते है IMEI trcaking काम कैसे करता है इसमें जिस Victim का मोबाइल ट्रैक करना होता है सबसे पहले वो ये देखते है कौन से Tower के पास में है और जिससे उसका मोबाइल कनेक्ट हुआ है नेटवर्क के साथ .

और network strength देख के वो ये पता लगा देते है की उसी टावर से मोबाइल कितना दुरी पे है मन लीजिये उनको पता चल गया है की 1km के अंदर victim है बोलके । और यहाँ दिक्कत अति है की , एक टावर के चारो और 1km radius में कहिबी हो सकता है ।

तो फिर पुलिस ये ये देखता है और कोनसे दूरसे नेटवर्क के साथ कनेक्ट हुआ है और अगर और के network के साथ कनेक्ट हुआ है तो पुलिस को आसानी होती है की कहाँ हो सकती है । अगर 3netwok के साथ कंनेक्ट हुआ है तो पुलिस आसानी से पहंच सहक्ति है विक्टिम के पास पर यहाँ बी उसी लोकेशन पे जाके ढूंढ़ना होता है ।

2.GPS Tracking

दूसरा तरीका है GPS Tracking इसमें ज्यादातर स्मार्टफोन ही ट्रैक हो सकते है , इसमें कही तरह के एप्लीकेशन होते है स्मार्टफोन में जिसके जरिये पुलिस ट्रैक कर सकती है । पर इसमें बी कभी बी पूरा accurate location नहीं मिल पता है

पर IMEI tracking से बेहतर रिजल्ट देता है GPS Tracking .

3.IP Adress Tracking

सबसे एडवांस्ड लेवल की अगर कोई ट्रैकिंग है आज तक तो वो है IP Adress tracking इसमें इंटरनेट के जरिये victim को ट्रैक किया जाता है इसमें victim के दरवाजे के सामने जाके पुलिस पहंच सकता है ये उतना सठिक होता है ।

Concusion

उम्मीद करते है की हमने आपको अच्छे बता दिए की police mobile kaise track karti hai   , अगर आपको हमारा ये पोस्ट अच्छा लगा तो जरूर अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये और कमेंट पे अपना रे जरूर बताइयेगा । धेन्याबाद ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *