हर दिन कुछ नया सीखिए

E Commerce kya hai ऑनलाइन के दुनिया में E-Commerce कैसे राज कर रहा है ?

e commerce kya hai ? ये सवाल क्या आपके दिमाग में कभी आया है, आया तो जरूर होगा कभी ना कभी, क्या अपने सोचा है कभी e commerce काम कैसे करता है, आखिर e commerce को log इतना क्यों पसंद कर रहे है ।

ऐसे ढेर सरे  सवाल है जो इसी बिसय पर आते है । अगर आपको पता नहीं है तो कोई बात नहीं आज हम इसी पोस्ट में इसके ऊपर पूरा जानकारी देंगे ।

आप जब भी कोई दोकान पे जाते है आपको बार बार बोलना पड़ता है भया वो वाला दिखाए , उस कलर का दिखाए , ऐसे बार बार बोलना पड़ता है दुकानदार को । कही बार आपको आपके मन पसंद का सामान नहीं मिल पाटा है और आप नीरस होक दूसरे कही दोकान ढूंढ़ने के बाद आपको आपकी पसंद की सामान मिलता है ।

आपको बाटाडू कही बार बोहोत सारे लोग जो छोटे सहर में रहते है उनको उनके मैं पसंद की सामान नहीं मिल पाटा है । तो इन्ही सारे असुबिधाओं को देखते हुए ऑनलाइन प्लेटफार्म को इस्तमाल करते हुए इ कॉमर्स बिज़नेस बना हुआ है ।

e commerce business का मुख्या रूप से मकसद होता है की वो अपने ग्राहक को कोई बी सामान को अपने हिसाब से चुनने का मौका देते है, उसके रंग से लेके उसके बजेट को बी वो ध्यान  में रखते है, इसके अलावा वो बोहोत बड़ी सहायता करते है ग्राहक को उनके घर तक सामान पचा देते है ।

तो इसी तरीके से e commerce बिज़नेस का स्तापना हुआ है आज के समय में बोहोत से लोग इसके जरिये चीजें खरीदना पसंद करते है ।

चलिए जानते है इ कॉमर्स बिज़नेस के बारेमें गहराई सेe commerce kya hai

E-Commerce kya hai – What is E-Commerce in Hindi

E-Commerce एक ऑनलाइन ब्यापार है जहाँ ऑनलाइन यानि इलेक्ट्रॉनिक जरिये से ब्यापार किया जाता है जैसे की इंटरनेट के जरिये कोई बी products/service को खरीदना या बेचना को E-Commerce कहते है । यहाँ E का मतलब electronic है जिससे आज के समय में इंटरनेट बी कहते है ।

अगर सरल और साधारण भासा में कहा जाये तो ऑनलाइन शॉपिंग करना ही इ कॉमर्स है । अगर आप नहीं जानते तो में आपको बतादूँ की ऑनलाइन यानि इंटरनेट में इ कॉमर्स के जरिये हर वो चीज बेचा जाता है जो सब सामान आप कही offline में जाके दोकान में खरीद ते है ।

जैसे की physical products उसमे एते है किताब, शर्ट, पेण्ट, टीवी, फ्रिज इत्यादि और virtual products में एते है ebook , online courses , SSL certificate , games , songs , movie इत्यादि ।

इ कॉमर्स एक ऐसा जरिया है आधुनिक दुनिये में जहाँ आप आराम से घर बैठे शॉपिंग कर सकते है, यहाँ बस आपको जो चाहिए वो सामान को अपने हिसाब से पसंद करना और पैसा देने की देरी है अगर आप वो कर लेते है तो आपकी शॉपिंग हो जाती है ।

आज कल मेडिसिन से लेके तो आपकी हर महीने की सब्जी से लेके आपकी घर की सफाई का काम सारा चीज हो जाता है, अगर आपको साडी करना है और  आपको साडी केलिए आपको दूल्हा या दुल्हन नहीं मिल रहा है तब बी आपको ऑनलाइन में मिल जा रही है ।

आजकल ऑनलाइन शॉपिंग यानि इ कॉमर्स बोहोत तरीके से सुरक्षित बी होता है, आज कल आपको cash on delivery बी मिलता है और, security का बी बोहोत सारा ध्यान रखा जाता है SSL certificate के जरिये और पूरा सिस्टम हाई सिक्योरिटी से encrypted बी होता है ।

आज कल इ कॉमर्स का ब्यापार सोशल मीडिया जैसे की facebook , Instagram इत्यादि से बी किया जा रहा है और साथ साथ telecalling , email marketing इनसब को शामिल किया जा रहा है e commerce बिज़नेस करने केलिए ।

E-Commerce ka itihas – History of E-commerce

फइलल ब्रेंडनबरजर ने 11, 1994 को दो पैहर पे उन्होंने ने एक स्टिंग की सीडी को ऑनलाइन मार्केटप्लेस में जाके अपने कंप्यूटर में $12.48 में पहली बार ख़रीदा था । और पैसे अपने क्रेडिट कार्ड दिया था ।

फिर उसी खरीदार ने जो पहली बार ख़रीदा था तबसे इ कॉमर्स की दुनिया में इतिहास रचा था । तबसे इसका चाहिदा धीरे धीरे करके पुरे दुनिया में बढ़ने लगा ।

पहली बार उसी purchase पे encrypted technology का इस्तमाल हुआ था । और आज के समय में ये सब एक आम बात होक रह गयी है ।

हकीकत में e commerce जा जन्म जबसे इंटरनेट आया था तबसे हो गया था उसी समय में सोल्लगे के छात्र, सिखयक, बैज्ञानिक, अपना सामान को खरीदना और बेचना केलिए इसका इस्तमाल कर रहे थे ।

फिर इन्ही सरे ब्यापार में 1060 में बिजनेसमैन लोग इसमें घुसे और इसी बिज़नेस को बढ़ावा दिए । उन्होंने EDI का इस्तमाल करते हुए अपना जो कीमती डॉक्यूमेंट है उसे ट्रांसेर और सेल करने केलिए इसका इस्तमाल करने लगे ।

फिर धीरे धीरे नए नए कंपनी इसी फील्ड में आने लगे जैसे की ebay , Amazon इत्यादि और ऑनलाइन के दुनिये में एक इतिहास लिखना सुरु होगया था ।

इसी तरह धीरे धीरे इ कॉमर्स में भूचाल आया है और समय के हिसाब से जैसी इसी इंडस्ट्री में क्रांति आयी है उसी हिसाब से इसी फील्ड में नए नए प्लेटफार्म आये है और साथ ही साथ बोहोत सारे टूल्स और नए नए स्ट्रेटेजी बने

ज्यादा जानने केलिए आप निचे वीडियो बी देख सकते है

E-Commerce का प्रकार – Types of E-commerce

Types of E-commerce
Types of E-commerce

इ कॉमर्स आने के बाद इसके अंदर ढेर सारे चीजों में बदलाव आया है और इसके अंदर ढेर सारे प्रकार आये और इ कॉमर्स करने ढेर सारा तरीका बी बन गया है जैसे की आप निचे देख सकते हो

  1. Business to Business ( B-B )
  2. Business to Consumer ( B-C )
  3. Consumer to Consumer ( C-C )
  4. Consumer to Business ( C-B )
  5. Government to Business ( G-B )
  6. Business to Government ( B-G )
  7. Consumer to Government ( C-G )

Business to Business model

जब दो से अधिक कंपनी, संस्था, इत्यादि इन लोगों के बिच में ऑनलाइन के जरिये चीजें खरीदना होता है तब उसे business to business model कहते है ।

यहाँ कोई आम आदमी इसमें शामिल नहीं होते है यहाँ सारा कारोबार एक बुसनेस्स दूसरे बिज़नेस के साथ करता है । इसी तरीका का बिज़नेस ज्यादा तर बड़े बड़े कंपनी अपना सामान बेचने केलिए, इसी तरीके में ज्यादातर बड़े बड़े कंपनी उनके कच्चा मॉल यानि raw-material का ब्यापार करते है ।

Business to Consumer model

आपको यहाँ नाम से पता चल रहा होगा ये किसी तरीका का बिज़नेस है यहाँ कोई बी बिज़नेस अपना सामान बेचने केलिए इ कॉमर्स का सहायता लेता है अपना ग्राहक तक पचछने केलिए ।

अगर आपको इसका उदाहरण देना चहु तो बोहोत सारे संस्था जैसे की Pizza delivery , वो अपना pizza अपने ग्राहक तक पहचाने केलिए इ कॉमर्स का सहारा लेते है ।

Consumer to consumer model

ये एक दम से सुरुवात की बिज़नेस मॉडल है ये उन दिनों की बात है जब नया नया इ कॉमर्स आया हुआ था तब एक कंस्यूमर के प्रोडक्ट्स और सर्विस किसी दूसरे कुसमर तक पचने केलिए इसी तरीका का बिज़नेस मॉडल का सहारा लिया करते थे ।

इसका जीता जगता उदाहरण है ebay और अमेज़न ये सब कंपनी इन्ही बिज़नेस मॉडल पे काम कर रहे है ।

Consumer to business model

अगर किसी क्षेत्र में कंस्यूमर के पास कोई बेहतर प्रोडक्ट्स या सर्विस है तो वो उसे कोई बिज़नेस को बेचता है इ कॉमर्स के जरिये तब उसे C2B यानि consumer to business model कहते है ।

इसका अगर उदहारण दू तो बोहोत सारे गाओं के महिला लोग मिलके अगरबत्ती बनाते है और वो एक कंपनी को देते है और वो कंपनी उसे पुरे दुनिये भर में बेचती है ।

Government to business model

आज के समय पे ये वाला इ कॉमर्स बी बोहोत ज्यादा चल रहा है, यहाँ सर्कार अपना जो बी काम करना है या चीज चाहिए होता है ये इ कॉमर्स के जरिये पा जाता है ।

जैसे की आज के समय में कोई नौकरी केलिए पोस्ट निकलता है तो वो उसे ऑनलाइन के जरिये फॉर्म निकलते है ।

Business to government model

जब सर्कार को कुछ जरुरी होता है और वो उसे कोई बिज़नेस से खरीदता है तब उसे B2G यानि बिज़नेस तो गवर्नमेंट model बी कहते है ।

इसका अगर उदाहरण दू तो आज के समय में सर्कार को अगर कही CCTV लगाना हो या कहीं कोई मेडिकल बनाना हो तब वो इनसब काम को कोई बिज़नेस को सौप देता है ।

Consumer to government Model

ये बी आज कल बोहोत चल रही है क्यों की आज बी बोहोत सारे आम जनसाधारण को बी ये जरुरत होती है कही बार जैसे की इ-मित्रसेबा, उमंग इत्यादि ।

कही ना कहीं हम और आप बी सर्कार के साथ इसी बिज़नेस मॉडल पे काम रहे है ।

E-Commerce का फायदा

हर चीज में चाहे यानि दुनिया में किसीबी चीज में डिरिक्तली हो या इंदिरिक्तली हमें कुछ न कुछ फायदे देते है और कुछ नुक्सान बी दे देते है।

इ कॉमर्स का सबसे बड़ी फायदा ये है की इसमें आपको आपके कोई बी दुकान के पास जाना नहीं पड़ता है कोई बी सामान खरीदने केलिए ।

चलिए जानते है ऐसे कुछ फायदे जो हमें e commerce से मिलता है

Global Reach

सबसे बढिये चीज है इ कॉमर्स की ये आपको global reach देता है । इसमें आप पुरे दुनिये के साथ जुड़ सकते है । अगर आप अपने लोकल में कोई बुसिनेस कर रहे है आप जितना कोसिस करने के बाद बी आप अपने एक दो सेहर से ज्यादा जगह पे अपना ब्यापार नहीं कर सकते है अगर कर लेते तो बी आपको बोहोत सारे दिक्कत का सामना करना पड़ता है ।

पर इसी ब्यापार में बिन कोई टेंसन लिए आप पुरे दुनिया के साथ जुड़ सकते है, जैसे की आप अपने छोटे से सेहर में आपका कोई products/service है तो आप उसे  USA लेके chin , Japan etc कही बी देश में आप अपना ब्यापार को बढ़ा सकते है इ कॉमर्स के जरिये ।

Cheap Price

Traditional Marketing में कोई बी सामान 3/4 rupee बना हुआ सामान ग्राहक तक पहचते पहचते उसकी प्राइस  बोहोत ज्यादा हो जाती है ।

पर इसी e Commerce में आपके साथ ऐसा नहीं होता है यहाँ बिच में distributer नहीं होते है जिसके कारन काम कीमत में ग्राहक तक सामान पहचता है ।

Easy Shopping

आपको ऊपर ही इसके बारेमें थोड़ा बोहोत बता दिया है की कैसे हम परिशानी का सामना करते है अगर हम कही दोकान में जाके कुछ खरीदते है तो ।

यहाँ सारा  काम ऑनलाइन इंटरनेट के जरिये होता है जिसके कारन आपको कही जाना नहीं पड़ता है आपको बस आपके घर में बेथ के ही आपके सामान को पसंद करना होता है ।

यहाँ आपको ढेर साडी सुबिधा मिलता है आपके बजेट से लेके आपके पसंदीदा रंग के हिसाब से, इसके लिए इ कॉमर्स के जरिये शॉपिंग करना आसान होता है ।

इसके अलावा ये आपके घर के सामने एके वो सामान देते है इसके लिए आपको कही बहार जाना नहीं पड़ता है ।

Availability

आज कल लोगों के समय की बोहोत कमी होती है हमेसा वो अपने काम में लगे हुए रहते है जिसके वजह से उनको शॉपिंग करने की वक्त नहीं होता है ।

पर e commerce इनसब में बदलाव लाया है यहाँ आपको एक फायदा मिलता है अपने हिसाब से जब मन करता है तब आप शॉपिंग कर सकते हो चाहे सुभे के 4 बजे हो या चाहे रात को 12 बजे हो ।

Fast Checkout

अगर आप कही दोकान में जाते है कुछ बी खरीदने केलिए तो अगर दोकान भीड़ होगा तो आपको बोहोत टाइम केलिए इंतिजार करना पद सकता है ।

कहिबार अगर आपको ढेर सारा सामान खरीदना होता है तो आपको बोहोत सारे दोकान के चक्कर काटना बी पद सकता है ।

पर इ कॉमर्स में ऐसा नहीं है आपको जब मैं करे आप उनके वेबसाइट या उनके आप में जाके सीधा खोले जो मन चाहे उसी प्रोडक्ट्स को पसंद कर सकते है और अगर आपको ज्यादा सामान की जरुरत है तो तब बी आप आराम से उसे वहां से add to cart करके उसे आप खरीद सकते है ।

Personal Recommendation

सबसे बढ़िया चीज इ कॉमर्स मिलता है वो है यहाँ आपको personal recommendation मिलता है आप कोई बी सामन के निचे देख सकते है इसको कितने लोग ने ख़रीदा हुआ है और उनक reviews देख सकते है पर चाह कर बी कोई बी दोकान से उनके सामान का reviews नहीं जान सकते है ।

E-Commerce का नुक्सान

आपको तो पता ही होगा जैसे हर coin के दो side होते है ठीक उसी तरह हर वो चीज को फायदे और नुक्सान होते है ठीक उसी तरह चलिए जानते है कुछ नुक्सान इ कॉमर्स के

You can’t touch products and see

आप जब बी कोई सामान खरीदते है इ कॉमर्स तो आप उसे देख नहीं सकते है और उसे आप कभी बी touch नहीं कर सकते है, जिसके वजह से आपको जो लिखा गया है उसी specification देख के ही खरीदना होता है ।

इसमें कहिबार आप जैसे सोचे हुए थे उसी हिसाब से आपको सामान नहीं मिलता है ।

Self satisfaction नहीं मिल पता है

अगर आप कोई बी सामान देख नहीं सकती और तोच नहीं कर सकते है उसे अगर खरीदते है तो आपको 70% चांस रहता है की फ़र्ज़ी सामान मिले आपको ।

कहिबार एके उसमिद के हिसाब से आपको काम quality के सामान मिलता है । इसी तरह इ कॉमर्स में आपको सेल्फ satisfaction सही से नहीं मिल पाटा है ।

Tech नॉलेज होना जरुई है

अगर आप इ कॉमर्स से सामान खरीदने का सोच रहे है तो आपके पास tech की ज्ञान होना बोहोत जरुरी है । अगर आपके पास नहीं है तो आप सामान नहीं खरीद सकते है ।

आपको इंटनेट से लेके इ कॉमर्स का इस्तमाल करना आना चाहिए और साथ ही साथ आपको बोहोत क्षेत्र में credit card का बी इस्तमाल करना आना चाहिए ।

Security Issue

आपको पता होगा बोहोत सारे दोकान में लोग ठग देते है अपने ग्राहक ठीक उसी तरह आपको बोहोत ज्यादा चांस होता है एकमेरे में ठग जाने का ।

बोहोत क्षेत्र में लोग इसका सामना कर चुके है, हो सके आप बी इसका सामना कर चुके हो । बोहोत बात हम जो देख के ख़रीदे हुए थे कही बार उस सामान का बोहोत काम क्वालिटी का सामान आ जाता है ।

बोहोत बार ऐसा बी होता है हमारा पैसा दुब जाने का बी रिस्क रहता है ।

Wait for Delivery

अगर आप कही दोकान से कुछ खरीदते है तो आपको उसी क्षेत्र में पैसा देने के बाद तुरत आपको सामान मिल जाता है पर इ कॉमर्स में आपको इंतिजार करना पड़ता है ।

जो की एक बोहोत बड़ा de-merrit है इ कॉमर्स का । बोहोत सारे जगह में कंपनी इसको बी एक ब्यापार बना दिए है जल्दी पहचाने केलिए ज्यादा पैसा बी लेते है ।

E-Commerce Platforms

हम जहाँ बी कोई सामान को खरीद ते है या बेचते है या आपको ऊपर बी जितने बी बताये e-commerce सारे के सारे कोई ना कोई प्लेटफार्म के जरिये बने हुए होते है उसके माद्यम से सी सारा काम का परिचालन किया जाता है ।

अगर हम e commerce kya hai आपको सवाल करते है आपके मान में एक ही उत्तर आएगा amazon.com का, जी हाँ ये एक बोहोत ही सफल इ कॉमर्स प्लेटफार्म है ।

आपके दिमाग में इसी पोस्ट को पढ़ते पढ़ते ये सवाल आया होगा की कैसे आखिर e-commerce platform बनते है, आखिर amazon कैसे बना है ? चलिए जानते है कैसे एक e-commerce प्लेटफार्म बनते है

मुख्यतः इन्ही दो तरीके से बनते है

  1. Online Storefronts
  2. Online Marketplace

Online Storefronts

ये एक आसान तरीका होता जिसमे आप आसानी से अपना store बना के अपना की उत्पाद या कोई service को बेच सकते है । इसमें आपको बोहोत सारे टूल्स मिलते है जिसको आप इस्तमाल करके आसानी से कुछ ही दिनों में अपना स्टोर बना सकते है ।

ज्यादातर Online Storefronts वेबसाइट के जरिये बोहोत आसानी बनायीं जाती है क्यों की इसमें आपको ज्यादा खर्चा करना नहीं पड़ता है और ज्यादा आपको पूंजी नीबेस करना नहीं पड़ता है ।

आपको नीचे हमने बोहोत सारे tools बताये है जिनको इस्तमाल करके आप अपना online storefront बना सकते है

Magneto :

सबसे आसान और बोहोत बेहतरीन फीचर्स के साथ ये मिलता है जिसको आप इस्तमाल करके आप अपना इ कॉमर्स प्लेटफार्म बना सकते है ।

Demandware :

ये एक cloud platform है जहाँ आप अपना इ कॉमर्स प्लेटफार्म बना सकते है ।

Oracle Platform :

Oracle खास तौर पे बनाया गया है B2B और B2C पे जो काम करना चाहते है उनके लिए । अगर आप इन्ही दोनों में काम करने का सोच रहे है तो आपको जरूर इस्पे जाना चाहिए ।

Shopify :

सबसे संदर प्लेटफार्म है shopify इसमें आप बड़ी आसानी से अपना एक marketplace बना सकते है इसमें आपको कुछ बी coding की ज्ञान जरुरत नहीं है इसमें आपको ज्यादा कुछ नहीं करना पड़ेगा बस आपको drag and drop करना होगा ।

इसी तरीके से आप आसानी से अपना बिज़नेस कर सकते है । Shopify को ज्यादा क्षेत्र में dropshipping बिज़नेस केलिए इस्तमाल किया जाता है ।

Woocommerce :

अगर आप नए इन्ही सारे क्षेत्र में और आपको कुछ पता नहीं है तो आप आसानी से इसके जरिये अपना marketplace बना सकते है ।

अगर आपको थोड़ा बोहोत बी पता है WordPress के बारेमें तो आप Woocommerce को लेके बनाने में आपको आसानी होगी .

आपके जानकारी केलिए बतादूँ की वूकमर्स केबल WordPress पे ही काम करता है ।

> WordPress क्या है ?

> Website कैसे बनाये ?

Instamojo :

अपने अगर अपना स्टोर बना दिए है तो फिर आपको ये टूल की जरुरत होगी । इसी टूल का payment receive करने केलिए इस्तमाल किया जाता है । इसके जरिये आप बड़ी आसानी से कहिसे बी आप payment recieve कर सकते है ।

चाहे वो credit Card हो या debit card हो या चाहे वो अगर चाहे तो आपको वो UPI के जरिये बी वो आपको payment कर सकते है ।

Razorpay :

ये बी एक Instmojo की तरह एक टूल है जिसके जरिये आप payment receive कर सकते है ।

Online Marketplace

यहाँ आपको कोई store बनाना नहीं पड़ेगा आपको आपका सामान बेचने केलिए । यहाँ दुनिया की बोहोत बड़ी बड़ी कंपनी अपने और से बनाके रखे है यहाँ बस आपको आपका products या service को बस resister करना होगा ।

यानी आपको जो बनाने केलिए खर्चा करना था टाइम देना था वो सब यहाँ वो करेंगे और आपको इसके लिए उनको आपके sales में कुछ कमीशन देना होता है ।

निचे ऐसे कुछ नाम दिया हु जो  की आज के समय में बिस्वभर में प्रसिद्धः ऑनलाइन marketplace है

  • Amazon
  • Flipkart
  • Alibaba
  •  eBay
  • Indiamart

ऐसे और बी  बोहोत सारे है, जहाँ आप अपना सामान बेच सकते है आसानी से अपना एक vender account बनाके ।

आखरी सब्द

यहाँ हमने पुरे इसी पेज पे हमने e commerce kya hai इसके ऊपर बात की है इसके सुरुवात से लेके आज तक की पूरी डिटेल्स इसके फायदे और नुक्सान के साथ आपको बताया है अगर आपको अच्छा लगा है तो जरूर इसे शेयर कीजिये धन्यवाद ।

Share on:

I am a professional Blogger and a Digital Marketer since a month ago, I believe in first Learning then remove "L" from Learning. That's all about me.

Leave a Comment