जापान की राजधानी क्या है?

जापान देश एशिया के पूर्व समुद्रतट, यानि की उत्तर पश्चिम प्रशांत महासागर में स्थित हैं और यह एक बहुत ही विकसित देश है। इस देशके पड़ोसी  देश चीन , रुस और कोरिया हैं। बौद्ध धर्म इस देश का मुख्य धर्म है और यहां की जनसंख्या में 96% बौद्ध अनुयायी है। जापान के लोगों का मुख्य आहार वाशोकू, मिसो सूप और चावल हैं। यह देश एक ऐसा देश है जहां पर हर दिन नए नए इन्वेंशन होते ही रहते हैं।

पिछले दो दिन पहेले ही जापान ने साल 2030 तक दुनिया में पूर्ण पैमाने पर पहली हाइड्रोजन आपूर्ति श्रृंखला बनाने के अपने इरादे की घोषणा भी की थी। यह देश एक ऐसा देश है जहां के बच्चे भी जैसे मानो की मां की कोख से जन्म लेते ही दुनियादारी को समझने लगते है। साथ ही इतिहास में भी अपने विश्व युद्ध के दौरान जापान के दो शहर हिरोसीमा और नागासाकी के बारे में भी पढा होगा।

जापान के लोग अपने देश को निप्पॉन कहते हैं, जिसका अर्थ सूर्योदय होता है। रिंग ऑफ फायर का हिस्सा, जापान 6852 द्वीपों के एक द्वीपसमूह में फैला है, जो 377975 वर्ग किलोमीटरको कवर कर लेता है । जापान के पांच मुख्य द्वीप  होक्काइदो, शिकोकू, होन्शू. क्यूशू  और ओकिनावा हैं। जापान की राजधानी टोक्यो है और इस महासत्ता के अन्य बड़े महानगर योकोहोमा, फुकुओबा नागोया ओसाका ,साप्पोरो, कोबे, और क्योटो (राष्ट्र की पूर्ववर्ती राजधानी) हैं।तो फ्रेंड्स, आज के आर्टिकल का हमारा टॉपिक है जापान की राजधानी। हम जापान के इस जादुई शहर के बारे मे सब कुछ जानेंगे और इसके साथ ही जापान से जुड़ी कुछ अन्य महत्वपूर्ण चीजों की भी चर्चा करेंगे ।

इस आर्टिकल में आज हम मूल विषय के साथ ही निम्न विषयों पर भी फोकस करेंगे। जैसे की जापान की राजधानी टोक्यो शहर का पुराना नाम क्या है, जापान देश की जनसंख्या कितनी है, जापान में बोली जाने वाली भाषा और जापान के प्रधानमंत्री।

जापान की राजधानी का नाम है टोक्यो है किन्तु हमारे लिए सिर्फ इतना ही जानना काफी नहीं है । तो चलिए इससे संबंधित और कुछ जानकारी भी हम हासिल करते है। और ये जानकारी प्रतियोगिता परीक्षा तैयारी मे उपयोगी होने के साथ ही हमारे जनरल नॉलेज को भी बढ़ाएंगी ।

जापान देश एशिया महाद्वीप मे स्थित है जो भारत से पूर्व की तरफ पड़ता है। जापान नगरी एक द्वीप देश है क्योंकि यह चारों तरफ से समुंद से घिरा हुआ देश है। जापान एक ऐसा राष्ट्र है जो 6,852 द्वीप समूहों से बना हुआ है। यह द्वीप समूह कुल 3,77,975 के विशाल वर्ग किलोमीटर मे फैला हुआ है।

आइए आगे हम आपको हम टोक्यो शहर का इतिहास की जानकारी दे रहे हैं।

इसे पढ़िए ➤ ताजमहल कहा स्थित हैं ? 

जापान की राजधानी क्या है

टोक्यो शहर का पुराना नाम

आज का टोक्यो शहर पहले किसी और नाम से जाना जाता था। उस समय इस शहर का नाम ईदो ( Edo) था। टोक्यो शहर का इतिहास करीब 400 साल पुराना है। दरअसल सन् 1603 मे तोकुगावा शोगुनेट की स्थापना के बाद इस शहर का विधिवत विकास शुरू हुआ था।

तोकुगावा शोगुनेट का क्या अर्थ है?

टोकुगावा शोगुनेट को ईदो शोगुनेट के रूप में भी जाना जाता है। यह ईदो काल के दौरान ही जापान की सामंती सैन्य सरकार थी। तोकुगावा इयासु ने ही तोकुगावा शोगुनेट की स्थापना की थी।

आसान भाषा में कहे तोकुगावा इयासु एक ऐसा शासक था जिसने तोकुगावा शोगुनेट सल्तनत की स्थापना की थी।
जापान राष्ट्र अठारहवीं शताब्दी के मध्य तक ईदो राजनीति और संस्कृति का मुख्य केंद्र बन चुका था। वहा पर करीब 10 लाख की आबादी बसी हुई थी। इसके साथ ही ईदो एक बड़े विकसित शहर के रूप मे भी स्थापित हो गया था।

मगर उस वक्त जापान के सम्राट क्योटो (Kyoto) मे रहते थे, और वही से राज पाट चलाते थे। क्योंकि की तब तक जापान की औपचारिक राजधानी क्योटो ही हुआ करती थी। ईदो काल साल 1868 में मीजी बहाली तक करीब 260 वर्षों तक चला। इसके साथ ही टोकुगावा शोगुनेट खत्म हो गए और ईदो मे भी शाही शासन बहाल हो गया। इसके साथ ही जापान के सम्राट भी क्योटो से ईदो चले गए और ईदो का नाम बदलकर टोक्यो कर दिया गया। इस प्रकार, टोक्यो जापान की राजधानी बन गया।

इसे पढ़िए ➤ मेकअप का सामान का नाम और लिस्ट उसके छबि

जापान देश की जनसंख्या

जापान विश्व का ग्यारहवां सबसे अधिक आबादी वाला राष्ट्र है। इसके साथ ही यह देश सबसे घनी और शहरी आबादी वाले देशों में से मुख्य है। जापान का तीन-चौथाई भूभाग पहाड़ी क्षेत्र से ढका हुआ है।
जो की एक पतले से समतल भूभाग पर रहती है। क्योंकि यह एक ऐसा देश है जिसकी तीन-चौथाई भूभाग पहाड़ी क्षेत्र से ढकी हुई है। जापान की कुल जनसंख्या 12.60 करोड़ के आसपास है।
जापान के अंदर ग्रेटर टोक्यो एक ऐसा क्षेत्र है जो 3.74 करोड़ से अधिक निवासियों के साथ दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला महानगरीय क्षेत्र माना जाता है।

जापान देश के प्रधानमंत्री की जानकारी

वर्तमान मे जापान के प्रधानमंत्री Yoshihide Suga है। जो की सितंबर 2020 से बतौर जापान के प्रधानमंत्री कार्यरत है। जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शींझो आबे (Shinzo Abe) के इस्तीफा देने के बाद इन्होंने ही जापान की सत्ता की बागडोर संभाली थी।

प्रधानमंत्री Yoshihide Suga पूर्व प्रधानमंत्री के आखरी मंत्रालय मे साल 2012 से लेकर 2020 तक चीफ कैबिनेट सेक्रेटरी के पद पर तैनात थे। उससे पहले उन्होंने साल 2006-07 के बीच आंतरिक मामलों और संचार मंत्री के रूप मे भी कार्य किया था।

जापानी की मुख्य भाषा

और राजभाषा है। दुसरे विश्व युद्ध से पहले कोरिया, ताइवान और साख़ालिन में भी जापानी भाषा का ही चलन था। वैसे जापानी भाषा में तीन लिपियाँ होती हैं – हिरागाना, काताकाना और कान्जि।
इन में से हिरागाना और काताकाना ध्वनि लिपियाँ हैं। जिनमें हर अक्षर का उपयोग एक ध्वनि के लिए किया जाता है। जबकि कान्जि एक चित्र लिपि है। जिसमें हर अक्षर का इस्तेमाल एक अर्थ बताने के लिए किया जाता है।

इसे पढ़िए ➤ विश्व का सबसे ऊंचा युद्ध स्थल ?

इसे पढ़िए ➤ 40+ Colors Name in Hindi & English रंगों के नाम हिंदी में

निष्कर्ष:

आशा है कि आपको जापान की राजधानी के बारे मे जरूरी जानकारी मिल गई होगी। फिर अगर आपको कोई सवाल हो तो आप हमें कमेन्ट सेशन में पुछ सकते है। हम जल्द ही आपको रीप्ले करने की कोशिश करेंगे। पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Main
Main
I am a professional Blogger and a Digital Marketer since a month ago, I believe in first Learning then remove "L" from Learning. That's all about me.

Related Articles

1 COMMENT

  1. Can I just say what a relief to uncover an individual who really understands what theyre talking about on the web. You certainly know how to bring a problem to light and make it important. More people ought to read this and understand this side of the story. I was surprised that you arent more popular given that you most certainly have the gift.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles